फेसबुक पर कोई अनजान व्यक्ति आपसे पैंसे मांगे या प्यार भरी बातें करे ‘तो समझ जाएँ गड़बड़ है’, पढ़िये पूरी खबर

89

फेसबुक, वाट्सएप, इंस्टाग्राम समेत सोशल मीडिया के अन्य कई सारे माध्यमों ने अपनों के बीच की दूरी को कम जरूर कर दिया, लेकिन परेशान करने वाली सच्चाई यह है कि इसके चलते तमाम युवक-युवतियों की खुशियों पर ग्रहण भी लगा है। कइयों की हंसती-खेलती जिंदगी उजड़ गई तो कइयों को जिंदगीभर न भूलने वाले गम से सामना करना पड़ा।

हमें सोशल मीडिया पर अनजाने लोगों से संपर्क करने से बचना होगा। अनजाने लिंक पर न तो क्लिक करें न ही किसी की चिकनी-चुपड़ी बातों पर यकीन करें। हाल ही में उत्तराखंड ऊधमसिंहनगर के खटीमा में एक युवक साइबर क्रिमिनल्स के जाल में फंस गया और उन्होंने उसे आसानी से 80 हजार का चूना लगा दिया।

जानकारी के अनुसार सुरेंद्र नाम के युवक की यूके में रहने वाली एक लड़की से दोस्ती हो गई, यूनाइटेड किंगडम के कार्डिफ शहर में रहने वाली लड़की अचानक भारत आ जाती है और पता चलता है कि युवती को मुंबई एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया है, कस्टम अधिकारी फ़ोन पर कहता है कि आपकी दोस्त आशी सुनील के पास दो लाख पाउंड मिले हैं, इंडियन करेंसी में ये धनराशि एक करोड़, 85 लाख है, जिसे जब्त कर लिया गया है।

23 अप्रैल को ही सुनील ने उनके द्वारा मांगी गई धनराशी 80 हजार दिए गए अकाउंट में जमा कर दिए। एक घंटे बाद उन्होंने रजिस्ट्रेशन चार्ज के नाम पर फिर से एक लाख 56 हजार रुपये जमा कराने को कहा तो सुरेंद्र को शक होने लगा। जानकारी जुटाने के बाद पता चला कि सुरेन्द्र ने जिस अकाउंट में पैंसे जमा किये वह अकाउंट एचडीएफसी बैंक भोपाल में विष्णु शर्मा के नाम से था।

पीड़ित ने अब पुलिस से मदद मांगी है। साइबर क्राइम से जुड़ी ऐसी खबरें लगातार सामने आ रही हैं, लेकिन लोग इनसे सबक लेने की बजाय ठगों के झांसे में आ जाते हैं। इसी बेवकूफी का फायदा साइबर क्रिमिनल उठा रहे हैं।

साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन के आंकड़े बताते हैं कि वर्ष 2015 से लेकर अब तक फेसबुक और ईमेल के जरिए ठगी से लेकर छवि धूमिल करने के सवा तीन सौ से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। अधिकांश अपराधियों ने पहले फेसबुक या वाट्सएप अकाउंट धारक को मैसेज भेजे और दोस्ती बढ़ाई, फिर उसे झांसे में लेकर अपराध को अंजाम दिया। उत्तराखंड में ऐसे ही कई किसे हाल में सामने आये हैं-

कोतवाली क्षेत्र में बीते एक मई को युवती से दुष्कर्म का चौंकाने वाला मामला सामने आया। जिस पर दुष्कर्म का आरोप युवती ने लगाया था, वह उसका कुछ ही महीने पहले फेसबुक फ्रैंड बना था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की तो पता चला कि आरोपित पहले भी एक लड़की को फेसबुक के जरिये अपने जाल में फंसा कर दुष्कर्म का प्रयास कर चुका है।

15 मई को वाट्सएप के जरिए दून के युवक ने दिल्ली की तलाकशुदा महिला को अपने जाल में फंसाया। उसे नौकरी दिलाने और बेहतर जिंदगी देने का झांसा देकर देहरादून बुलाया और उसके साथ दुष्कर्म किया। मामले में राजपुर पुलिस आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है।

इसी महीने रुद्रप्रयाग जिले में सोशल मीडिया पर दोस्ती होने के बाद एक महिला युवक से साथ भाग गई थी, पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया, पता चला कि युवक ने सोशल मीडिया पर महिला से अच्छी दोस्ती बना ली थी और झूठे सपने दिखाकर उसने महिला को पूरी तरह भ्रमित कर दिया, खुशहाल जिंदगी बर्बाद कर दी। महिला ने घर छोड़ने से पहले अपने मासूम बच्चों के बारे में तनिक भी नहीं सोचा । हमारी आपसे अपील है कि सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अनजान लोगों से दोस्ती ना करें। कोई दोस्ती कर रुपये मांगे तो समझ जाएं कि कहीं ना कहीं गड़बड़ जरूर है…इसकी शिकायत तुरंत पुलिस से करें।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here