जोशीमठ की रहने वाली शिवांगी डिमरी का कारनामा, हिमाचल में किया उत्तराखंड का नाम रोशन

13492

सीमांत नगर जोशीमठ की रहने वाली शिवांगी डिमरी ने वह कारनामा कर दिखाया जो आज एक बार फिर से नारी सम्मान को और बल देता है। जोशीमठ नगर के रविग्राम की रहने वाली शिवांगी एक सामान्य परिवार से हैं पिता और माता अध्यापक और अध्यापिका का कार्य करते थे ।

अप्रैल माह में पिता का परिवार से सहारा छूट गया और माता भी बीमार पड़ गई लेकिन शिवांगी ने अपने परिवार के हौसले को कम ना होने दिया और पिता के आदर्श और पिता ने जो बेटी के लिए सपने देखे थे, वह पूरे करने का हौसला लेकर शिवांगी आज जोशीमठ का नाम रोशन कर चुकी है।

शिवांगी 2018- 19 में लोक सेवा आयोग से रेंजर ट्रेनिंग सेंटर सुंदर नगर हिमाचल में ट्रेनिंग के लिए गई। जहां 18 माह की ट्रेनिंग करके शिवांगी को हर विषय में सर्वश्रेष्ठ ट्रेनर चुना गया जिसके बाद हिमाचल प्रदेश के वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने शिवांगी को एक गोल्ड मेडल और 2 सिल्वर मेडल से नवाजा ।

शिवांगी की प्राथमिक शिक्षा जोशीमठ की ज्योति विद्यालय में संपन्न हुई तो वही इंटर की परीक्षा श्रीनगर के सेंट टेरेसा मैं पूरी हुई। उसके बाद शिवांगी पंतनगर विश्वविद्यालय से बीएससी और एमएससी एफ आर आई देहरादून से पूरी करने के बाद हिमाचल प्रदेश में ट्रेनिंग के लिए चली गई जहां कि उन्होंने उत्तराखंड का नाम रोशन करके उत्तराखंड को और विशेष रूप से जोशीमठ क्षेत्र को गौरवान्वित किया है।

शिवांगी को जोशीमठ के सभी लोग बधाई दे रहे हैं विशेष रूप से शिवांगी की माता अपनी बेटी की प्रतिभा से काफी खुश दिखाई दे रही है । पिता का साया बच्चों पर से दूर होने के बाद मां ने अपने पिता के नाम को रोशन करने की जो प्रेरणा बच्चों को दी आज बच्चों ने उस प्रेरणा को पूरी करके मां को एक बड़ा तोहफा दिया है।

शिवांगी आज अपने पिता को याद करके दुखी हो रही है लेकिन जो कारनामा उत्तराखंड राज्य के लिए शिवांगी ने करके दिखा है वह किसी खुशी से कम नहीं है। भविष्य में भी अपने पद के अनुसार उत्तराखंड की लाडली बिटिया शिवांगी उत्तराखंड ही नहीं बल्कि जोशीमठ का नाम ऊंचा करने जा रही है । वहीं उत्तराखंड के यह हल्द्वानी शहर के रहने वाले नितिन पंत को भी हिमाचल प्रदेश में सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here